Saturday, March 2, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeखास खबरतालकटोरा स्टेडियम में भाजपा के जनांदोलन की शुरुआत

तालकटोरा स्टेडियम में भाजपा के जनांदोलन की शुरुआत

 नई दिल्ली।  डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के 58वें बलिदान दिवस पर दिल्ली भाजपा ने तालकटोरा स्टेडियम में एक जनसभा का आयोजन कर केन्द्र और दिल्ली की भ्रष्ट सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प किया। देश के अन्य राज्यों की तरह दिल्ली में भी अगले दो दिनों तक भाजपा भ्रष्टाचार, काले धन की वापसी पर केंद्र सरकार के तानाशाही रवैये के विरोध में जनसंपर्क अभियान चलाएगी। बृहस्पतिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जनक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस से इसकी शुरुआत का एलान किया गया। अभियान के पहले दिन करीब पांच हजार भाजपा कार्यकर्ता तालकटोरा स्टेडियम पहुंचे। यहां पार्टी के इस अभियान के तहत राष्ट्रीय व प्रदेश स्तर के नेताओं ने भ्रष्ट तथा तानाशाह सरकार को उखाड़ फेंकने का भी संकल्प लिया। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विजेंद्र गुप्ता ने दिल्ली सरकार के भ्रष्टाचार, तानाशाही व अलोकतांत्रिक व्यवहार पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि कोई भी संवैधानिक संस्था जब दिल्ली सरकार पर भ्रष्टाचार साबित करती है तब यह सरकार उसी संस्था को कटघरे में खड़ा करने का प्रयास करती है। वहीं दिल्ली विधानसभा में नेता विपक्ष प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान के दिनों की याद कार्यकर्ताओं को दिलाते हुए कहा कि भाजपा का इतिहास संघर्षो का इतिहास रहा है। उन्होंने केंद्र तथा दिल्ली की शीला सरकार को इतिहास की भ्रष्टतम सरकार बताया। उन्होंने तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित जनसभा से कहा कि अगले दो दिनों तक दिल्ली की प्रत्येक कॉलोनी व गांव तक सरकार की नाकामियों का खुलासा किया जाएगा। इतना ही नहीं देश के खजाने को नुकसान पहुंचाने वाले महाघोटालों की पोल खोलकर सोनिया गांधी व प्रधानमंत्री के असली चरित्र से आम मतदाता को अवगत कराया जाएगा। इस मौके पर भाजपा के कार्यकर्ताओं को पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री अनंत कुमार ने संकल्प दिलाया। अभियान का समापन 25 जून को इसलिए रखा गया है क्योंकि 25 जून सन 1975 में देश में पहली बार इमरजेंसी लागू हुई थी।
 स्टेडियम में कार्यकत्र्ताओं को लालकृष्ण आडवाणी, अनंत कुमार, विजेन्द्र गुप्ता, प्रो. मलहोत्रा ने सम्बोधित किया। कार्यकर्ताओं ने नारे लगाते हुए कांग्रेस को उखाड़ फेंकने का आवाह्न किया।  दिल्ली के सभी इलाकों से आम जनता के समूह भाजपा कार्यकत्र्ताओं के साथ झंडे-बैनर सहित तालकटोरा स्टेडियम की ओर सभा समाप्त होने तक एकत्रित हुए। 
पूर्व उपप्रधानमंत्री  लाल कृष्ण आडवाणी ने कहा कि अपने भ्रस्ताचारों से सहमी और डरी सरकार ने आतंक का रास्ता अपनाते हुए दमनकारी हथकंडों का सहारा लेना शुरू कर दिया है।  रामलीला ग्राउन्ड में बाबा रामदेव के सोते हुए सत्याग्रहियों पर जिस प्रकार सरकार ने दमन चक्र चलाया वह बताता है कि सरकार अब अपने खिलाफ उठने वाली किसी भी तर्कसंगत आवाज को लाठी और गोली के सहारे दबाना चाहती है।  यह सरकार के पतन का संकेत है।  भाजपा कार्यकत्र्ताओं को दमन, आतंक और सरकारी के आगे न झुककर लंबे संघर्श के लिए तैयार रहना चाहिए।  अब इस  सरकार को एक दिन भी सहने को तैयार नहीं है।  हमें तर्क और जनसमर्थन के सहारे सरकार का तख्ता पलटने के लिए आज से ही जुट जाना  आडवाणी ने कहा कि देश  की आम जनता मंहगाई, भ्रश्टाचार तथा आतंकवाद के खात्मे के नाम पर उठा रहे चैकाने वाले कदमों से बेहद त्रस्त है।  उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि सरकार के लोग ही सरकार के खिलाफ जासूसी में संलिप्त हैं।  ऐसी खबरें आने के बाद दिखाई देने लगा है कि सरकार अपनी विश्वसनीयता स्वयं खो रही है। 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments