Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारा नेताशिक्षा मंत्री आतिशी यूट्यूब सीरीज के 36 एपिसोड में बच्चों को बताएगी...

शिक्षा मंत्री आतिशी यूट्यूब सीरीज के 36 एपिसोड में बच्चों को बताएगी जीवन का मकसद

संवाददाता


नई दिल्ली। केजरीवाल सरकार द्वारा देश और दुनिया के लोगों तक हैप्पीनेस करिकुलम पहुंचाने के संबंध और शिक्षा के मानवीकरण और जीवन के मूल उद्देश्य की समझ बनाने की दिशा में रविवार को एक यूट्यूब सीरीज लांच की गई. दिल्ली सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा शुरू की गई 36 एपिसोड की इस सीरीज के माध्यम से जीवन का मकसद और उसकी प्राप्ति में शिक्षा की भूमिका को पूरी दुनिया के साथ शेयर करने की पहल है.

केजरीवाल सरकार का शिक्षा विभाग इस वीडियो सीरीज को विश्व के टॉप विश्वविद्यालयों व संस्थानों के साथ भी साझा करेगा और उनके विचारों व नए आइडिया को इसमें सम्मिलित करने काम का करेगा. शिक्षा मंत्री आतिशी ने कहा कि इतने कम समय में टीम एजुकेशन द्वारा हैप्पीनेस करिकुलम के दर्शन पर आधारित सीरीज तैयार करना बेहद खुशी की बात है. उन्होंने कहा कि ये बेहद सराहनीय कदम है कि हमारी टीम ने जीवन जीने के इस दर्शन को सहजता के साथ देशविदेश में लोगों तक पहुंचाने की पहल की है. ‘भारत के एजुकेशन सिस्टम में हमेशा ज्ञान और कौशल की बात हुई लेकिन मूल्य शिक्षा इसके बीच कहीं दबकर रह गई.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के विजन और पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के नेतृत्व में दिल्ली सरकार के स्कूलों में बच्चों को काबिल बनाने के साथ-साथ उन्हें अच्छा इंसान बनाने के लिए हैप्पीनेस माइंडसेट करिकुलम एंत्रप्रेन्योर माइंडसेट करिकुलम व देशभक्ति करिकुलम की शुरुआत की गई. इन सबका उद्देश्य शिक्षा के माध्यम से जीवन के मूल उद्देश्यों को समझना है. तीनों करिकुलम को और व्यापक बनाने की दिशा में टीम एजुकेशन काम कर रही है और हमारे लिए बेहद ख़ुशी की बात है. हम अपने वीडियो सीरीज के माध्यम से पूरी दुनिया से परिचित करवा रहे हैं.

शिक्षा मंत्री ने पूर्व शिक्षा मंत्री का विजन बतायाः

शिक्षा मंत्री ने कहा कि पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का विजन है कि शिक्षा का असल उद्देश्य जीवन को बेहतर ढंग से जीना सिखाना है. इस वीडियो के माध्यम से हम दिल्ली के शिक्षकों और विद्यार्थियों ने हैप्पीनेस करिकुलम से जो कुछ सीखा है उसे हम देश और दुनिया के बाकी लोगों के साथ भी साझा कर सकें और शिक्षा के माध्यम से जीवन के प्रति अपने नजरिये और जीवन जीने के तरीकों में सकारात्मक बदलाव ला सकें.

क्या बोले शिक्षा निदेशकः

शिक्षा निदेशक हिमांशु गुप्ता ने कहा कि क्लासरूम में पढ़ा रहे एक शिक्षक के लिए ज्ञान के साथसाथ उसका अच्छा चरित्र होना भी जरूरी है. क्योंकि बच्चे अपने शिक्षक को अपने आइडल के रूप में देखते हैं. उन्होंने कहा कि हमारे शिक्षकों ने जो कुछ सीखा है. अब समय है कि उस ज्ञान को हम देश दुनिया में बाकी लोगों तक भी पहुंचा सके ताकि सभी खुश होकर जीवन जीना सीख सकें और अपने स्टूडेंट्स को भी सिखा सकें. उल्लेखनीय है कि हैप्पीनेस दिल्ली के यूट्यूब चैनल httpswwwyoutubecomHappinessDoEDelhi पर हर बुधवार को शाम 730 बजे तथा हर रविवार को सुबह 9 बजे ‘जीवन विद्याजीवन जीने का एक तरीका’ सीरीज के नए एपिसोड को ऑनएयर किया जाएगा.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments