Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारा नेताबीजेपी के स्थापना दिवस पर मोदी बोले, महिलाएं, पिछड़े, दलित-आदिवासी भाजपा...

बीजेपी के स्थापना दिवस पर मोदी बोले, महिलाएं, पिछड़े, दलित-आदिवासी भाजपा की ढाल हैं

संवाददाता

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी आज अपना 44वां स्थापना दिवस मना रही है। पार्टी की स्थापना 6 अप्रैल 1980 को हुई थी। स्थापना दिवस के मौके पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दिल्ली में पार्टी मुख्यालय पर झंडा फहराया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअली देशभर में भाजपा के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा के लिए राष्ट्र सर्वोपरि है।

पीएम ने एक बार फिर परिवारवाद और वंशवाद को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा। मोदी ने कहा, भाजपा सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के मंत्र के साथ काम कर रही है। पीएम मोदी ने कहा, जब हनुमान जी को राक्षसों का सामना करना पड़ा था तो वो उतने ही कठोर भी हो गए थे। इसी प्रकार से जब भ्रष्टाचार की बात आती है, जब परिवारवाद की बात आती है, कानून व्यवस्था की बात आती है तो भाजपा उतनी ही संकल्पबद्ध हो जाती है। पीएम मोदी ने कहा, नफरत से भरे लोग आज झूठ पर झूठ बोले जा रहे हैं। ये लोग हताशा से भर गए हैं।

पीएम मोदी ने कहा, कांग्रेस जैसी पार्टियों का कल्चर, छोटे छोटे सपने देखना, भारत का राजनीतिक कल्चर है, बड़े सपने देखने और उससे भी ज्यादा हासिल करने के लिए जी जान से लग जाना। अपना सब कुछ इसके लिए लगा देना। कांग्रेस और उसके जैसी पार्टियों का कल्चर महिलाओं से जुड़ी समस्याओं को ध्यान में रखना नहीं है। पीएम मोदी ने कहा, भाजपा वो पार्टी है जिसके लिए राष्टï्र सदा सर्वोपरि रहा है। एक भारत-श्रेष्ठ भारत जिसकी आस्था का मूलमंत्र रहा है। जब जनसंघ का जन्म हुआ था तो हमारे पास न ज्यादा सियासी अनुभव था, न साधन थे, न संसाधन थे लेकिन हमारे पास मातृभूमि के प्रति भक्ति और लोकतंत्र की शक्ति थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भगवान हनुमान की जन्म जयंती मना रहे हैं। चारों तरफ बजरंग बली का नाम गूंज रहा है। उनका जीवन, उनके प्रमुख प्रसंग आज भी हमें भारत की विकास यात्रा में प्रेरणा देते हैं। पुरुषार्थ के लिए प्रेरित करते हैं। हमारी सफलताओं में उन महान शक्ति के आशीर्वाद भी दिखते हैं। पीएम ने कहा कि लोग कहने लगे हैं कि 2024 में भाजपा को कोई नहीं हरा सकता है। यह सच भी है, लेकिन हमें भाजपा कार्यकर्ताओं के तौर पर लोगों के दिल को जीतना है, यह चुनाव जीतने तक सीमित नहीं रहना चाहिए। हमें 1980 की तरह ही हर चुनाव को लडऩा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments