Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeखास खबरप्रधानमत्री ने नॉर्थ-ईस्ट को समर्पित किया पहला एम्स

प्रधानमत्री ने नॉर्थ-ईस्ट को समर्पित किया पहला एम्स

असम। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को एम्स गुवाहाटी और तीन मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा और कहा कि हमने नॉर्थ-ईस्ट को पहला एम्स दिया है। पिछली सरकारों ने असम के लिए कुछ नहीं किया।
पीएम मोदी ने मई 2017 में एम्स गुवाहाटी की आधारशिला रखी थी। इसे 1120 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है। एम्स उत्तर पूर्व के लोगों को विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराएगा। इसके अलावा, प्रधानमंत्री ने देश को 500 बेड वाले तीन मेडिकल कॉलेजों यानी नलबाड़ी मेडिकल कॉलेज, नागांव मेडिकल कॉलेज और कोकराझार मेडिकल कॉलेज भी समर्पित किया। पीएम मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज उत्तर पूर्व को अपना पहला एम्स और असम को 3 नए मेडिकल कॉलेज मिले हैं। एम्स-गुवाहाटी के साथ मिलकर आधुनिक रिसर्च के लिए 500 बिस्तर वाले सुपर स्पेशलिटी वाले अस्पताल का भी शिलान्यास हुआ है। असम के लाखों-लाख साथियों तक आयुष्मान कार्ड पहुंचाने का काम मिशन मोड पर शुरू हुआ है। पिछले नौ साल में हमने इंफ्रा प्रोजेक्ट्स पर काम किया है और इसलिए हर कोई कनेक्टिविटी से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की बात करता है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आज कल नई बिमारी देखने को मिल रही है। मैं देश में कहीं भी जाता हूं और 9 वर्षों में हुए विकास की चर्चा करता हूं तो उससे कुछ लोगों को परेशानी हो जाती है। वह शिकायत करते हैं कि दशकों तक उन्होंने भी देश पर राज किया, उन्हें श्रेय क्यों नहीं मिलता। श्रेय के भूखे लोगों और जनता की राज करने की भावना ने देश का बहुत अहित किया है। पीएम मोदी ने कहा कि हमने बीते वर्षों में 15 नए एम्स पर काम शुरू किया। इनमें से अधिकतर में इलाज और पढ़ाई दोनों सुविधा शुरू हो चुकी है। एम्स गुवाहाटी भी इसका परिणाम है कि हमारी सरकार जो संकल्प लेती है, उसे सिद्ध करके दिखाती है। यह असम की जनता का प्यार है कि मुझे खींचकर ले आता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा की सरकारों में नीति, नीयत और निष्ठा किसी स्वार्थ से नहीं बल्कि श्राष्ट्र प्रथम, देशवासी प्रथमश् इसी भावना से हमारी नीतियां तय होती हैं। इसलिए हमने वोटबैंक के बजाय देश की जनता की मुश्किलों को कम करने पर फोकस किया। हमने लक्ष्य बनाया कि हमारी बहनों को इलाज के लिए दूर ना जाना पड़े। हमने तय किया कि किसी गरीब को, पैसे के अभाव में अपना इलाज ना टालना पड़े।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि पहले उत्तर पूर्व के लोगों को दिल्ली, कोलकाता जैसे बड़े शहरों में इलाज कराने जाना पड़ता था जिससे उनका सफर पीड़ा से भर जाता था। अब उनकी यह पीड़ादायक यात्रा खत्म हो चुकी है। आज गुवाहटी एम्स के साथ गुवाहाटी को 3 सरकारी मेडिकल कॉलेज मिलने जा रहे हैं।
असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा, श्श्मैं असम के लोगों को बताना चाहता हूं कि आज हमने 1.10 करोड़ आयुष्मान भारत कार्ड तैयार किए हैं और अगले डेढ़ महीने में 3.3 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत कार्ड बनाकर देगें। इसकी मदद से हर व्यक्ति प्रति वर्ष 5 लाख रुपए तक बिना पैसे में एम्स, सरकारी मेडिकल कॉलेज या प्रावईवेट अस्पताल में स्वास्थ्य सेवाएं ले सका है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments