Friday, March 1, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारा नेताडॉ शैली ओबरॉय और आले मोहम्मद निर्विरोध चुने गए मेयर-डिप्टी मेयर

डॉ शैली ओबरॉय और आले मोहम्मद निर्विरोध चुने गए मेयर-डिप्टी मेयर

डॉ शैली ओबरॉय और आले मोहम्मद निर्विरोध चुने गए मेयर-डिप्टी मेयर
-आप के दोनों उम्मीदवार निर्विरोध चुने गए
नई दिल्ली। भाजपा ने मेयर-डिप्टी मेयर के चुनाव में अंतिम समय पर नामांकन वापस लेने के बाद आम आदमी पार्टी उम्मीदवार डॉ शैली ओबरॉय निर्विरोध मेयर और आले मोहम्मद इकबाल डिप्टी मेयर चुने गए। इस संबंध में आम आदमी पार्टी के एमसीडी प्रभारी और विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा कि इनके अंदर मेयर-डिप्टी मेयर का चुनाव लड़ने की क्षमता भी खत्म हो गई है। हमारे सभी पार्षदों को दस-दस करोड़ रुपए और अमित शाह से मीटिंग का ऑफर दिया गया, ताकि किसी तरह से टूट जाएं। भाजपा ने हमारे पार्षदों को तोड़ने के लिए दिल्ली पुलिस का सहारा भी लिया। जब सारे षड्यंत्र फेल हो गए तो नामांकन वापस ले लिया। मेयर डॉ शैली ओबरॉय ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल के विजन को पूरा करने के लिए मिलकर काम करेंगे। हम राजनीति से ऊपर उठकर निष्पक्ष तरीके से सदन को चलाएंगे। डिप्टी मेयर आले मोहम्मद इकबाल ने कहा कि दिल्ली की जनता को भरोसा दिलाते हैं कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की 10 गारंटियों को पूरा किया जाएगा। नेता सदन मुकेश गोयल ने कहा कि भाजपा के पार्षदों का फर्ज बनता है कि वो राजनीति ना खेलें बल्कि दिल्ली की समस्याओं को दूर करने के लिए साथ दें।
दिल्ली नगर निगम में आम आदमी पार्टी के निर्विरोध मेयर-डिप्टी मेयर बनने के बाद सिविक सेंटर में वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने मेयर डॉ शैली ओबरॉय के साथ महत्वपूर्ण प्रेस वार्ता को संबोधित किया। दुर्गेश पाठक ने कहा कि पहली बार नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी ने आम आदमी पार्टी के सामने सरेंडर कर दिया है। इनके अंदर मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव लड़ने की क्षमता भी पूरी तरह से खत्म हो गई है। पिछले कई सप्ताह से सरेंडर सप्ताह चल रहा है। भाजपा ने पीठासीन अधिकारी की नियुक्ति के ऊपर 2 महीने पहले संविधान को ताक पर रखा था। पूरी तरह से सदन के अंदर गुंडागर्दी कर रहे थे। लेकिन इस बार जब अरविंद केजरीवाल ने मुकेश गोयल का नाम पीठासीन अधिकारी के नाम पर भेजा तो वहां पर भी भाजपा और एलजी ने सरेंडर कर दिया और इनके नाम को मंजूरी दे दी। सदन में आज भारतीय जनता पार्टी के मेयर और डिप्टी मेयर उम्मीदवारों ने सदन में सरेंडर कर दिया। हमारी मेयर पद की उम्मीदवार डॉ शैली ओबरॉय और डिप्टी मेयर पद के उम्मीदवार आले मोहम्मद इकबाल निर्विरोध जीत गए। उन्होंने कहा कि मेयर और डिप्टी मेयर पद के लिए भाजपा ने 18 अप्रैल को नॉमिनेशन किया। उस समय कहा कि भाजपा का मेयर और डिप्टी मेयर बनेगा। इन्होंने हमारे सभी पार्षदों के ऊपर डोरे डाले और प्रलोभन देने की भी कोशिश की। हमारे पार्षदों को दस-दस करोड़ रुपए का ऑफर दिया गया, ताकि किसी तरह से टूट जाएं। भाजपा ने दिल्ली के इतिहास में पहली बार हमारे पार्षदों को तोड़ने के लिए दिल्ली पुलिस का सहारा लिया। दिल्ली पुलिस के एसीपी और डीसीपी को लगाया गया कि हमारे पार्षदों को तोड़ा जाए। उनको स्पष्ट तौर पर कहा गया कि आम आदमी पार्टी छोड़ने पर दस करोड़ रुपए मिलेंगे और अमित शाह से मीटिंग करायी जाएगी। लोकतंत्र में इससे गिरी हुई हरकत कोई नहीं कर सकता है।
आम आदमी पार्टी के एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि जब यह लोग सदन में आए तो इन्हें पता था कि इनके पास संख्या नहीं है। संभावना यह थी कि लोकतंत्र में भरोसा रखने वाले भाजपा के कई पार्षद भी आम आदमी पार्टी के पक्ष में वोट डालते। इस बेज्जती और हार से बचने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने आम आदमी पार्टी के सामने सरेंडर कर दिया। यह आम आदमी पार्टी, एक-एक कार्यकर्ता और पार्षद की जीत है। सीएम अरविंद केजरीवाल के मूल्यों की जीत है। आम आदमी पार्टी करोड़ों लोगों की उम्मीद से बनकर आई है।
नव-निर्वाचित मेयर डॉ शैली ओबरॉय ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल का आभार प्रकट करती हूं जिन्होंने मुझे फिर से मेयर पद का उम्मीदवार बनाया। आम आदमी पार्टी के पार्षद, विधायक, सांसद, कार्यकर्ता और दिल्ली की जनता की भी आभारी हूं, जिन्होंने मुझे मेयर बनाने का फैसला किया। दिल्ली की जनता के जो सपने हैं उन्हें पूरा करने के लिए यह जिम्मेदारी दोबारा मिली है। सभी को आश्वस्त करती हूं कि जो जिम्मेदारी आज फिर से मिली है, उसे इमानदारी और साफ नियत से पूरा करूंगी। दिल्ली की जनता की बेहतर स्कूल, अस्पताल, पार्क आदि उम्मीदों को पूरा किया जाएगा। इसके अलावा नगर निगम के कर्मचारियों की तनख्वाह सहित अन्य मुद्दों को पूरा किया जाएगा। सीएम अरविंद केजरीवाल के विजन को पूरा करने के लिए मिलकर काम करेंगे। हम राजनीति से ऊपर उठकर निष्पक्ष तरीके से सदन को चलाएंगे।
डिप्टी मेयर आले मोहम्मद इकबाल ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली की जनता का आभार, जिन्होंने दोबारा मुझ पर विश्वास जताया है। दिल्ली की जनता को भरोसा दिलाते हैं कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की 10 गारंटियों को पूरा किया जाएगा। जिस तरह से पूरी दुनिया में दिल्ली सरकार के स्कूल अस्पताल लोकप्रिय हैं, उसी तरह से दिल्ली नगर निगम के भी स्कूल अस्पताल होंगे। दिल्ली की जनता ने जो सपने देखें हैं, उनको पूरा करना हमारी अहम जिम्मेदारी है। दिल्ली नगर निगम के दरवाजे अब आम जनता के लिए खुल गए हैं। नेता सदन मुकेश गोयल ने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का धन्यवाद प्रकट करता हूं कि उन्होंने मुझे पीठासीन अधिकारी बनाने की सिफारिश की। इस वजह से उपराज्यपाल को मुख्यमंत्री की सिफारिश को मानना पड़ा और मुझे पीठासीन अधिकारी बनाया। भारतीय जनता पार्टी को सदन के अंदर अपने प्रत्याशियों के नाम वापस लेने पड़े। यह उनकी मजबूरी थी क्योंकि उन्हें मालूम था कि हमारे कई पार्षद इधर-उधर जा रहे हैं। हम आशा करते हैं कि आगे भी भाजपा के पार्षद दिल्ली की जनता की समस्याओं को समझते हुए काम करेंगे। हम यहां दिल्ली की जनता की समस्याओं को सुलझाने के लिए आए हैं। ऐसे में भाजपा के पार्षदों का फर्ज बनता है कि वो राजनीति ना खेलें, बल्कि दिल्ली की समस्याओं को दूर करने के लिए साथ दें। मेयर डॉ. शैली ओबेरॉय ने पिछले कार्यकाल में जिस तरह से काम किया वह काबिले तारीफ है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments