Friday, March 1, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारी दिल्ली1947 के विभाजन पर भारत का दूसरा संग्रहालय अम्बेडकर विश्वविद्यालय के दारा...

1947 के विभाजन पर भारत का दूसरा संग्रहालय अम्बेडकर विश्वविद्यालय के दारा शिकोह लाइब्रेरी में हुआ तैयार

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार राष्ट्रीय राजधानी में विभिन्न ऐतिहासिक इमारतों को संरक्षित करने की दिशा में तेज़ी से काम कर रही है। भारतीय इतिहास के इन खूबसूरत प्रतीकों में से एक कश्मीरी गेट स्थित “दारा शिकोह लाइब्रेरी” है जिसे केजरीवाल सरकार द्वारा “विभाजन संग्रहालय” और कल्चरल हब में परिवर्तित किया गया है। गुरुवार को कला,संस्कृति व भाषा मंत्री आतिशी ने इसका उद्घाटन कर इसे जनता को समर्पित किया।

इस मौक़े पर कला,संस्कृति व भाषा मंत्री आतिशी ने कहा कि,“दिल्ली में ऐतिहासिक इमारतें समय के साथ देश के विकास का प्रतीक हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने देश को बेहतर ढंग से समझने में मदद करने के लिए ऐतिहासिक इमारतों के जीर्णोद्धार को प्राथमिकता दी है। उन्होंने कहा कि विभाजन के संग्रहालय को स्थापित करने के लिए दारा शिकोह लाइब्रेरी की बिल्डिंग से बेहतर कोई जगह नहीं हो सकती थी। यह 1947 के विभाजन की यादों से जुड़ा लोक संग्रहालय होगा, जिसने दिल्ली को भी नाटकीय रूप से बदल दिया था।और इसके बाद राजधानी में कई कालोनियाँ स्थापित हुई जिसमें लाजपत नगर, सीआर पार्क, और पंजाबी बाग आदि जैसे क्षेत्र शामिल हैं। यह भारत में विभाजन पर बनाया जाने वाला दूसरा और दिल्ली में पहला ऐसा संग्रहालय है।

कला,संस्कृति व भाषा मंत्री आतिशी ने कहा कि, “आमतौर पर संग्रहालय केवल ऐतिहासिक महत्व के क्षणों को प्रदर्शित करते हैं, लेकिन इस संग्रहालय में, हमने एक” गैलरी ऑफ होप “जोड़ी है, जो दशकों बाद पाकिस्तान में अपनी प्राचीन संपत्तियों को फिर से देखने वाले लोगों की तस्वीरों और अनुभवों को प्रदर्शित करेगी। ये तस्वीरें खुद विभाजन की विभीषिका झेलने वाले लोगों द्वारा संग्रहालय को दान की गई हैं।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments