Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारी दिल्ली‘आप’ ने डोर-टू-डोर अभियान चलाकर लोगों से महारैली में आने की अपील...

‘आप’ ने डोर-टू-डोर अभियान चलाकर लोगों से महारैली में आने की अपील की

-केंद्र सरकार की तानाशाही के खिलाफ 11 जून को रामलीला मैदान में आयोजित होगी आम आदमी पार्टी की महारैली
नई दिल्ली। आगामी 11 जून को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली महारैली को लेकर आम आदमी पार्टी ने डोर टू डोर अभियान तेज कर दिया है। मंगलवार को आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय भी डोर टू डोर अभियान में शामिल हुए। सिविल लाइन में डोर टू डोर अभियान के तहत कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने केंद्र के अध्यादेश को लेकर लोगों से बात की और अध्यादेश के खिलाफ अपना आक्रोश व्यक्त करने के लिए महारैली में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार ने अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पलट कर उसकी अवमानना की है। अगर आज हम इस अध्यादेश के खिलाफ एकजुट होकर खड़े नहीं हुए तो लोगो को वोट देने का लोकतांत्रिक अधिकार भी नहीं बचेगा। आम आदमी पार्टी के दिल्ली प्रदेश संयोजक एवं कैबिनेट मंत्री गोपाल राय ने मंगलवार को डोर टूट डोर अभियान के दौरान कहा कि सर्वोच्च न्यायालय ने दिल्ली के मतदाताओं की शक्ति को संरक्षित करते हुए चुनी हुई सरकार को दिल्ली की व्यवस्था को संचालित करने का अधिकार देने का फैसला दिया। कोर्ट के फैसले के बाद दिल्ली के लोगो लगा कि अब उनके कामों को तेजी से पूरा करने में सहायता मिलेगी, लेकिन भाजपा की केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री द्वारा अध्यादेश लाकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना की गई और दिल्लीवालों के अधिकारों को हाईजैक कर लिया गया। इससे दिल्ली के लोग स्तभ्ध और दुखी हैं कि उनके वोट की कीमत को अपमानित क्यों किया जा रहा है। इस तानाशाही पूर्ण अध्यादेश के खिलाफ अपने आक्रोश को व्यक्त करने के लिए 11 जून को रामलीला मैदान में महारैली का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में हर मंडल स्तर पर महारैली मंडल कमिटी बनाई गई है। अबतक दो हजार मंडलो की बैठक की जा चुकी है और पूरी दिल्ली में डोर टू डोर अभियान चलाया जा रहा है। डोर टू डोर कैंपेन के दौरान पैम्फलेट बांटे जा रहे हैं। इसके एक तरफ महारैली का आमंत्रण पत्र है और दूसरी तरफ महारैली आयोजित करने के कारण का उल्लेख किया गया है। हमारे कार्यकर्ता इस पैम्फलेट को लेकर घर-घर जा रहे है और सभी दिल्लीवासियो को इस महारैली के लिए आमंत्रित कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पूरी दिल्ली से महारैली के लिए दिल्लीवासियों का समर्थन मिल रहा है। भाजपा के समर्थकों के मन में भी यह सवाल उठ रहा है कि वो भी वोट देते हैं लेकिन बार-बार उनके वोट की कीमत को भी कम क्यों आका जाता है। इसलिए ‘‘आप’’ के कार्यकर्ता घर-घर जा रहे हैं। अगर आज हम इस अध्यादेश के खिलाफ एकजुट होकर खड़े नहीं हुए तो लोगो को वोट देने का लोकतांत्रिक अधिकार नहीं बचेगा। क्योकि भाजपा की केंद्र सरकार तानाशाही पर उतारू है। भविष्य में यह संभव है कि वो फिर कोई अध्यादेश लाकर दिल्ली की सरकार ही खत्म कर देगी। हमे पूरा विश्वास है कि केंद्र सरकार की तानाशाही के खिलाफ दिल्लीवासियों के साथ विशाल रैली होगी। लोगो में यह डर है कि यदि सुप्रीम कोर्ट के फैसले की भी अवमानना होगी तो वो दिन दूर नहीं, जब भजपा की केंद्र सरकार द्वारा लोकतंत्र की गरिमा पर सीधा प्रहार किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments