Friday, March 1, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeजनमंचबोरवेल में 24 घंटे से फंसी बच्ची को बचाने में जुटे सेना...

बोरवेल में 24 घंटे से फंसी बच्ची को बचाने में जुटे सेना के जवान

सिहोर (मध्य प्रदेश)। मध्य प्रदेश के सिहोर के मुगावली गांव में एक बोरवेल 24 घंटे से 110 फीट गहरे में फंसी को बचाने के लिए सेना के जवानांे से मोर्चा संभाल लिया है। गौरतलब है कि मंगलवार को दोपहर 1 बजकर 15 15 मिनट बजे ढाई साल की सृष्टि पुत्री राहुल कुशवाह खेलते समय करीब 300 फीट गहरे बोरवेल के गड्ढे में गिर गई। बोरवेल में सृष्टि करीब 25 फीट अंदर फंसी गई। वहीं अब बच्ची 110 फीट पर पहुंच गई है। उसे बाहर निकालने के लिए पुलिस, प्रशासन और एनडीआरएफ का अमला जुटा हुआ है। लेकिन अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी है। वहीं, प्रशासन ने आर्मी को बुलाकर बच्ची को बाहर निकालने का काम जारी कर दिया है। बता दें कि मंगलवार दोपहर 2 बजे से सृष्टि को बोरवेल से निकालने के लिए चलाया गया रेस्क्यू लगातार 23 घंटे से अभी भी जारी है। अब तक 35 फीट समानांतर गड्ढा खोदा जा चुका है, लेकिन सुबह 8 बजे बताया गया कि सृष्टि खिसककर बोरवेल में 50 फीट नीचे पहुंच गई है, जिससे मुश्किलें बढती नजर आ रही हैं, लेकिन एनडीआरएफ की टीम बोरवेल में रॉड में कुंदे लगाकर बोरवेल में डालकर बच्ची को नीचे जाने से और खिसकने से रोकने का प्रयास कर रही है। वहीं, बुधवार सुबह 8 बजे तक करीब 35 फीट तक खोदाई की जा चुकी थी। पूरी रात रेस्क्यू चला, लेकिन 12 फीट के बाद पत्थर आना शुरू हुआ, जिससे खोदाई में अधिक समय लग रहा है। मजबूत पत्थर को तोड़ने के लिए 380 और 220 क्षमता वाली 6 पोकलेन लगी हैं। जिला पंचायत सीईओ आशीष तिवारी का कहना है कि बच्ची में मूवमेंट नजर नहीं आ रहा है, लगातार रेस्क्यू जारी है।
मौके पर दो एंबुलेंस सहित पांच से अधिक बड़े ऑक्सीजन के सिलेंडर पहुंचे हैं जिनसे पाइप के माध्यम से बोरवेल में लगातार ऑक्सीजन सप्लाइ की जा रही है, जिससे सृष्टि को सांस लेने में तकलीफ न हो। बोर में गिरी बच्ची को देखने के लिए टॉर्च सहित कैमरे की मदद ली गई। क्प्ळ और ैच् ने स्क्रीन पर बच्ची की गतिविधि देखने का प्रयास किया, लेकिन स्क्रीन पर बच्ची का सिर्फ हाथ ही दिखाई दे रहा है। लोग उम्मीद जता रहे हैं कि सेना के जवान बच्ची को सकुशल बाहर निकाल लेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments