Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeजनमंचउत्तर प्रदेश के आम का इंतजार कर रहे यूरोपीय बाजार: योगी

उत्तर प्रदेश के आम का इंतजार कर रहे यूरोपीय बाजार: योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि यूरोप के बाजार उत्तर प्रदेश के आम का इंतजार कर रहे हैं लेकिन इस बाजार के उपयोग के लिये हमें अपने उत्पादों की गुणवत्ता पर खास ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि रूस में उत्तर प्रदेश के आमों की काफी मांग है। वहां पर 800 सौ रुपये प्रति किलो आम बिक रहा है जबकि यहां से कार्गो के माध्यम से आम भेजने में 190 रुपये का खर्च आता है। यानी कोई किसान अगर रूस में आम भेजेगा तो उसे काफी लाभ होगा। यहां एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमें यहां के आमों को दुनिया के कोने-कोने में पहुंचाना है। यूरोप के बाजार उत्तर प्रदेश के आम का इंतजार कर रहे हैं। ‘शॉर्टकट’ नहीं अपनाएं और अपनी गुणवत्ता पर ध्यान देते हुए मांग के अनुरूप उत्पाद तैयार करें।” एक बयान के अनुसार उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बीज से लेकर बाजार तक की दूरी को कम करने का कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अमर शहीद पथ स्थित अवध शिल्पग्राम में तीन दिवसीय ‘उत्तर प्रदेश आम महोत्सव 2023′ के उद्घाटन के दौरान यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट’ में हमने दुनिया के अलग-अलग देशों में टीमें भेजी थी। प्रदेश की बागवानी फसलों के लिए हमें वैश्विक बाजार को टटोलना होगा। इसके लिए विभिन्न देशों में मौजूद भारतीय दूतावास के माध्यम से उत्तर प्रदेश के कृषि से जुड़े उत्पादों की प्रदर्शनी का आयोजन करें। उन्होंने कहा कि आम महोत्सव किसानों की आमदनी को कई गुना बढ़ाने का एक मंच है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की मंशा के अनुरूप उत्तर प्रदेश सरकार किसानों के हित से जुड़े सभी आवश्यक कदम उठा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश के अंदर चार स्थानों पर पैक हाउस बनाए हैं। अभी पिछले दिनों वाराणसी के पैक हाउस से दो टन आम हमें दुबई भेजने का अवसर प्राप्त हुआ। ऐसे ही कार्यक्रम हमें सहारनपुर, अमरोहा और लखनऊ पैक हाउस से आयोजित करने होंगे। उन्होंने कहा कि बागवानी फसल के साथ-साथ हमें यहां की सब्जियों को भी वैश्विक बाजार में पहुंचाना होगा। इसके लिए हमारे कृषि वैज्ञानिकों और उद्यान विभाग के अधिकारियों को सामूहिक प्रयास करना होगा तब ही हम नई संभावनाओं को तलाश पाएंगे और उत्तर प्रदेश के कृषि एवं औद्योगिक उत्पादों को एक अलग पहचान दिला पाएंगे। कार्यक्रम में जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह और उद्यान मंत्री दिनेश प्रताप सिंह, मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र समेत अन्य अधिकारी एवं आम उत्पादक किसान मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments