Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeखास खबरहिमाचल में राहत और पुनर्वास के लिए केंद्र सभी आवश्यक मदद करेगा:...

हिमाचल में राहत और पुनर्वास के लिए केंद्र सभी आवश्यक मदद करेगा: नड्डा

शिमला। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने शुक्रवार को बारिश प्रभावित हिमाचल प्रदेश के मंडी और कुल्लू इलाकों का दौरा करने के बाद कहा कि केंद्र बाढ़ प्रभावित इस पहाड़ी राज्य में चल रहे राहत और पुनर्वास कार्यों के लिए सभी आवश्यक मदद प्रदान करेगा। नड्डा ने कहा कि दुर्गम और बर्फीले इलाकों में राहत और बचाव कार्यों के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 13 टीम और 17 हेलीकॉप्टर राज्य को उपलब्ध कराए गए हैं। उन्होंने कहा कि पुनर्निर्माण कार्यों के लिए धन जारी किया गया है और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अधिक धन का प्रावधान कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त सड़कों और पुलों की मरम्मत के लिए अलग से आवंटन किया गया है। भाजपा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें राज्य का दौरा करने और स्थिति का जायजा लेने के लिए कहा है। नड्डा ने मंडी में पंचवक्त्र मंदिरों का दौरा किया, जो ब्यास नदी में बाढ़ के कारण जलमग्न हो गए थे। उन्होंने मंडी के पास बाढ़ प्रभावित पंडोह क्षेत्र का भी दौरा किया। भाजपा अध्यक्ष ने अपने दल के साथ कुल्लू जिले के भुंतर में बाढ़ प्रभावित लोगों से भी मुलाकात की और मनाली की स्थिति के बारे में भी जानकारी ली। इस इलाके में भारी तबाही हुई है। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राजीव बिंदल भी मौजूद थे। भारी बारिश के कारण राज्य के कई हिस्सों में अचानक बाढ़ आ गई और भूस्खलन हुआ, जिससे सड़कें अवरुद्ध हो गईं और संपत्ति को नुकसान पहुंचा। इस सप्ताह की शुरुआत में मोदी और शाह ने मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू से बात की थी और राज्य को केंद्र सरकार के सहयोग का आश्वासन दिया था। केंद्र की ओर से राहत कार्य के लिए राज्य को अब तक 180 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं। प्रदेश में 24 जून को मानसून की शुरुआत से 13 जुलाई तक बारिश से संबंधित घटनाओं और सड़क दुर्घटनाओं के कारण 91 लोगों की मौत हो गई है। राज्य में अब तक 60,000 से अधिक पर्यटकों को सुरक्षित निकाला गया है। राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र के अनुसार, 790 से अधिक सड़कें अवरुद्ध हैं और 1,468 ट्रांसफार्मर और 963 जल आपूर्ति योजनाएं प्रभावित हुई हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments