Friday, March 1, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeजनमंचएक बार फिर यमुना खतरे के निशान से ऊपर, लोहे के पुल...

एक बार फिर यमुना खतरे के निशान से ऊपर, लोहे के पुल पर ट्रेनों की आवाजाही बंद

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में एक बार फिर यमुना का पानी बढ़ने लगा है। रविवार को यमुना का जलस्तर फिर से खतरे के निशान को पार कर गया। ऐसे में रेलवे की ओर से देर रात लोहे के पुल पर पुरानी दिल्ली और शाहदरा स्टेशन के बीच रेलगाड़ियों का संचालन अगले आदेश तक रोक दिया गया है।

सीपीआरओ, उत्तर रेलवे के हवाले से बताया गया है कि रविवार रात 10.15 बजे से लोहे के पुल पर पुरानी दिल्ली और शाहदरा स्टेशन के बीच ट्रेनों की आवाजाही अगले आदेश तक निलंबित कर दी गई है। लोहे के पुल से होकर पुरानी दिल्ली जंक्शन आने जाने वाली ट्रेनों को वरास्ता नई दिल्ली से चलाया जा रहा है। दरअसल, यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया। इस वक्त यमुना 206.31 मीटर पर बह रही है। इसमें रात तक और वृद्धि हो सकती है। दिल्ली प्रशासन यमुना खादर और निचले इलाकों को फौरन खाली करा रहा है। तेजी से जलस्तर बढ़ने से बाढ़ प्रभावित निचले इलाकों में राहत-बचाव एवं पुनर्वास अभियान पर असर पड़ सकता है। संभावित खतरे के मद्देनजर दिल्ली सरकार हाई अलर्ट पर है।
केंद्रीय जल आयोग के बाढ़ निगरानी पोर्टल के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में 11 जुलाई की रात यमुना के जलस्तर में इजाफा शुरू हुआ। रात 12:01 बजे पुराना लोहा पुल (ओल्ड ब्रिज) पर जलस्तर 206.05 मीटर पर पहुंच गया। 12 जुलाई की रात 11:00 बजे यह 206.83 मीटर दर्ज किया गया। 13 जुलाई की रात ठीक 12 बजे इसमें तेजी के साथ वृद्धि हुई और यह 208.13 मीटर पर पहुंच गया और सुबह 8 बजते-बजते यह 208.48 मीटर पर पहुंच गया। रात 08 बजे के बाद 208.66 मीटर पार कर गया। इससे पहले दिल्ली में 1924, 1977, 1978, 1995, 2010 और 2013 में बाढ़ आ चुकी है। इनमें से सितंबर 1978 की बाढ़ ने दिल्ली वालों को रुला दिया था। 4 सितंबर को यमुना के चार पुलों (पुराना रेलवे पुल, वजीराबाद पुल, आयकर ऑफिस के पास का पुल और ओखला पुल को 48 घंटों तक यातायात के लिए बंद कर दिया गया था। उत्तरी दिल्ली के 30 गांवों में बाढ़ आ गई थी। जीटी रोड से करनाल जाने वाली सड़क का बड़ा हिस्सा यमुना के पानी में जलमग्न हो गया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments