Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeखास खबरजी20 सुरक्षा : अभेद किले में तब्दील दिल्ली, चप्पे-चप्पे पर हथियारों से...

जी20 सुरक्षा : अभेद किले में तब्दील दिल्ली, चप्पे-चप्पे पर हथियारों से लैस जवान तैनात

-दिल्ली पुलिस और पारा मिलिट्री समेत सभी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के जवानों ने अपने कब्जे में ले लिया

-नई दिल्ली जिले में आम लोगों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित

नई दिल्ली। दिल्ली में कल से आयोजित होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन की सुरक्षा के लिए पूरी दिल्ली को अभेद किले में तब्दील कर दिया गया है। सभी सीमाएं सील कर दी गई हैं और दिल्ली के चप्पे-चप्पे पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस जवान तैनात हैं। इतना ही नहीं जल और आकाश से भी सुरक्षा की जा रही है। खासतौर पर नई दिल्ली जिले को दिल्ली पुलिस और पारा मिलिट्री समेत सभी केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों के जवानों ने अपने कब्जे में ले लिया है। गुरुवार देर रात 12 बजे नई दिल्ली जिले की सभी सड़कों पर मजबूत बैरिकेडिंग कर वहां बड़ी संख्या में पारा मिलिट्री और दिल्ली पुलिस की तैनाती की गई है।

नई दिल्ली जिले में आम लोगों का प्रवेश पूरी तरह से वर्जित रहेगा। वे अपने वाहनों से प्रवेश नहीं कर सकेंगे। किसी आवश्यक कार्य वश अगर कोई नई दिल्ली जिले में पैदल जाना चाहेंगे तब वैध कारण व सुरक्षा जांच के बाद उन्हें जाने दिया जाएगा। साथ ही अगर कोई मेट्रो से नई दिल्ली जिले के अंदर किसी मेट्रो स्टेशन पर उतरकर जिले में पैदल जाना चाहेंगे तो उन्हें भी जाने दिया जाएगा, लेकिन जगह-जगह उन्हें सुरक्षा जांच का सामना करना पड़ सकता है।शिखर सम्मेलन को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने दिल्ली में ऐतिसाहिक इमारतों का सौंदर्यीकरण कराया गया है।अब पुरानी दिल्ली स्थित जामा मस्जिद से सौंदर्यीकरण की तस्वीरें सामने आई हैं, जिसमें जामा मस्जिद की अलौकिक छटा दिख रही है। शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले राष्ट्राध्यक्ष दिल्ली के जिन 16 होटलों में ठहरेंगे, वहां मल्टी लेयर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। अलग-अलग एजेंसियों को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई हैं। सभी 40 कारकेड की अगुवाई के लिए 40 ट्रैफिक डीसीपी की तैनाती की गई है। ट्रैफिक डीसीपी होटलों के बाहर तैनात रहेंगे, जब भी कोई कारकेड होटलों से प्रगति मैदान, राजघाट अथवा कहीं अन्य जगहों पर जाएगा, सभी कारकेड के आगे एक-एक ट्रैफिक डीसीपी चलेंगे। किस देश के कारकेड के साथ कौन ट्रैफिक डीसीपी चलेंगे। इसकी जिम्मेदारी उनके नामों के साथ तय कर दी गई है। प्रगति मैदान के पास भी तीन ट्रैफिक डीसीपी की तैनाती रहेगी जो वहां आने वाले वाहनों की पार्किंग आदि सारे प्रबंधन की जिम्मेदारी संभालेंगे। विशेष आयुक्त कानून एवं व्यवस्था सागर प्रीत हुड्डा का कहना है कि जी-20 की सुरक्षा के व्यापक रूप से इंतजाम किए गए हैं। गुरुवार देर रात नई दिल्ली की सभी सरकारी प्रतिष्ठानों की हाई राइज बिल्डिंग सील कर दी गई। उधर नई दिल्ली से सटे मध्य जिले के दरियागंज और कमला मार्केट इलाके की भी सभी सरकारी हाई राइज बिल्डिंग तीन दिनों के लिए सील कर दी गई। नई दिल्ली जिले में जब भी कोई बड़ा अरेंजमेंट होता है, तब वीवीआईपी रूटों के कारण कुछ आवासीय सोसाइटियों के प्रवेश द्वारों को भी सील कर दिया जाता है। जिला पुलिस के पास उक्त सोसाइटियों की सूची है उसी के अनुरूप ऐसा किया जाएगा। आवासीय सोसाइटियों के प्रवेश द्वारों को हमेशा सील नहीं रखा जाएगा। जिले की सभी ऊंची इमारतों पर पारा मिलिट्री के कमांडो की तैनाती कर दी गई है जो 10 सितंबर तक राउंड द क्लाक तैनात रहेंगे। कारकेड निकलने व अन्य वीवीआईपी रूटों के दौरान जिले की सड़कों पर अत्यधिक सर्तकता बरती जाएगी। किसी भी हवाई हमले व ड्रोन हमले को रोकने के लिए सेना के डीआरडीओ व एयर फोर्स ने राजधानी में जगह-जगह ऊंची इमारतों पर एंटी ड्रोन सिस्टम लगा दिया है। नई दिल्ली जिले में आने वाले सभी महत्वपूर्ण मार्केट कनाट प्लेस, खान मार्केट, बंगाली मार्केट की सभी दुकानों को देर रात 12 बजे सील कर दिया गया। जिले में केवल राशन व दवा की दुकानें ही खुली रहेंगी। नई दिल्ली जिले में जगह-जगहों सड़कों पर बैरिकेडिंग कर दी गई है। हर बैरिकेड के पास बड़ी संख्या में पारा मिलिट्री व दिल्ली पुलिस की तैनाती कर दी गई है। पूरा जिला पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। विशेष आयुक्त ट्रैफिक एसएस यादव का कहना है कि रात 12 बजे से दिल्ली की सभी सीमाओं पर पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई। किसी भी तरह के छोटे, मध्यम व बड़े माल वाहन वाहनों को तीन दिनों तक दिल्ली में प्रवेश करने नहीं दिया जाएगा। सब्जियां, दूध व फल आदि कुछ जरूरी सर्विस वाले वाहनाें को ही दिल्ली में प्रवेश करने दिया जाएगा, लेकिन इसके लिए भी कुछ ही रूटों को निर्धारित किया गया है। दिल्ली पुलिस ने देश में होने वाले इस बड़े आयोजन के लिए सहयोग करने की अपील की है।

सामान्य वाहनों के लिए यातायात की रहेगी यह व्यवस्था

रिंग रोड, आश्रम चौक, सराय काले खां, दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे, नोएडा लिंक रोड, पुस्ता रोड, युधिष्टिर सेतु, आइएसबीटी कश्मीरी गेट, रिंग रोड, मजनू का टीला क्षेत्र में समान्य आवाजाही रहेगी l एम्स चौक से रिंग रोड, धौला कुआं, रिंग रोड, बरार स्क्वायर, नारायणा फ्लाइओवर, राजौरी गार्डन जंक्शन, रिंग रोड, पंजाबी बाग जंक्शन, रिंग रोड, आजादपुर चौक इलाके में यातायात व्यवस्था समान्य रहेगी। सन डायल/डीएनडी फ्लाईओवर से रिंग रोड, आश्रम चौक, मूलचंद अंडरपास, एम्स चौक, रिंग रोड, धौला कुआं, रिंग रोड, बरार स्क्वायर, नारायणा फ्लाईओवर वाले रूट पर रोकटोक नहीं रहेगी l युधिष्ठिर सेतु से रिंग रोड, चंदगी राम अखाड़ा, माल रोड, आजादपुर चौक, रिंग रोड, लाला जगत नारायण मार्ग इलाके में वाहन चलेंगे

यमुना में बढ़ा पहरा, बोट से गश्त कर रही पुलिस

सम्मेलन में भाग लेने वाले मेहमानों की सुरक्षा मजबूत करने के लिए दिल्ली पुलिस ने यमुना में पहरा बढ़ा दिया है। बोट के जरिये पुलिस यमुना में गश्त कर रही है। साथ ही पहली बार खादर क्षेत्र में पुलिसकर्मी ट्रैक्टर से गश्त करते नजर आ रहे हैं। खादर व यमुना में हो रही गतिविधियों पर पुलिस ने नजर बनाई हुई है। मध्य जिला पुलिस उपायुक्त संजय कुमार सेन ने बताया कि सुरक्षा को लेकर पुलिस छोटी से छोटी चीज पर ध्यान दे रही है। यमुना मध्य समेत कई जिले को यमुनापार से जोड़ती है। सुरक्षा में कोई कमी न रह जाए, इसलिए बोट से पुलिसकर्मी यमुना में गश्त कर रहे हैं। यमुना खादर का क्षेत्र उबड़-खाबड़ होता है, पुलिसकर्मियों को ट्रैक्टर दिए गए हैं, ताकि वह बिना परेशानी के गश्त कर सकें। उत्तर-पूर्वी जिला पुलिस उपायुक्त डा. जाय टिर्की ने बताया कि दिन व रात में पुलिस के जवान अर्धसैनिक बल के जवानों के साथ गश्त रहे हैं। 24 घंटे पुलिस ने यमुना व खादर पर निगाह बनाई हुई है।

बॉर्डर पर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम, ड्रोन से रखी जा रही है नजर

शिखर सम्मेलन को लेकर हरियाणा से सटे सिंघु बार्डर, लामपुर बार्डर, औचंदी बार्डर और गांवो से दिल्ली में प्रवेश करने वाले रास्तों पर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। बृहस्पतिवार शाम को सिंघु बार्डर से दिल्ली में प्रवेश करने वाले हर वाहनों की जांच की गई। वाहनों के नंबर, चालकों के नाम नोट करने के साथ-साथ उनसे दिल्ली आने का कारण भी पूछा जा रहा था। अलीपुर थाने के एसएचओ सतिंद्र पाल सिंह ने बताया कि दो शिफ्ट में करीब 150 पुलिस व अर्धसैनिक बलों के जवानों को सिंघु बार्डर पर तैनात किया गया है। इसके अलावा हरियाणा से आने वाले हर रास्ते पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। दोपहिया और चारपहिया वाहनों की जांच करने के साथ-साथ ड्रोन से भी नजर रखी जा ही है। फिलहाल, किसी वाहन को दिल्ली आने से नहीं रोका गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments