Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeजनमंचभारत की अध्यक्षता में जी20 का आयोजन एक बड़ी सफलता : धनखड़...

भारत की अध्यक्षता में जी20 का आयोजन एक बड़ी सफलता : धनखड़  

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि भारत की जी20 की अध्यक्षता एक सफलता है। उन्होंने कहा कि एक वैश्विक शक्ति के रूप में उभरते भारत की वैध और उचित मान्यता थी। बुधवार को सप्रू हाउस में भारतीय विश्व मामलों की परिषद (आईसीडब्ल्यूए) के अनुसंधान संकाय को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने जी20 की अध्यक्षता के दौरान भारत की भूमिका के लिए व्यापक सराहना और हाल ही में संपन्न जी20 नेताओं के शिखर सम्मेलन की सफलता का उल्लेख किया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस बात पर जोर देते हुए कि भारत इतिहास में एक निर्णायक क्षण में है। उपराष्ट्रपति ने शोधकर्ताओं से लोगों को देश की उपलब्धियों से अवगत कराने का आग्रह किया। उन्होंने रेखांकित किया कि आप देश के हर बाहरी व्यक्ति के लिए और दुनिया के हर भारतीय नागरिक के लिए खिड़की हैं। उपराष्ट्रपति ने भारत की ‘फ्रैजाइल फाइव’ का हिस्सा बनने से लेकर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने तक की यात्रा का वर्णन किया। धनखड़ ने कहा कि भारत में हो रही कुछ उपलब्धियां एक समय दुनिया के लिए कल्पना से परे लगती थीं। उन्होंने विस्तार से बताया कि वे कभी सोच भी नहीं सकते कि धर्म, जाति, पंथ और भाषा की विविधता वाले देश में ऐसा हो सकता है। उन्होंने आईसीडब्ल्यूए के अनुसंधान विद्वानों से भारत के बारे में समय-समय पर फैलाई जाने वाली हानिकारक, भयावह कहानियों का मुकाबला करने में सबसे आगे रहने का आग्रह किया। ऐसे आख्यानों के गहन विश्लेषण में संलग्न होने की आवश्यकता पर बल देते हुए, उपराष्ट्रपति ने कहा  कि केवल हमारे संवैधानिक संस्थानों को कलंकित करने, धूमिल करने, अपमानित करने और नष्ट करने के लिए बनाई गई ऐसी रणनीति को बेअसर करने में आपकी भूमिका महत्वपूर्ण है। उपराष्ट्रपति, जो आईसीडब्ल्यूए के पदेन अध्यक्ष भी हैं, ने सप्रू हाउस में आईसीडब्ल्यूए की पुनर्निर्मित लाइब्रेरी का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में राजदूत विजय ठाकुर सिंह, महानिदेशक, आईसीडब्ल्यूए, श्री सुनील कुमार गुप्ता, उपराष्ट्रपति के सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments