Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारी दिल्लीवायु प्रदूषण के खिलाफ जंग : केजरीवाल ने किया 15 सूत्रीय विंटर...

वायु प्रदूषण के खिलाफ जंग : केजरीवाल ने किया 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान का एलान

नई दिल्ली। सीएम अरविंद केजरीवाल ने सर्दी के मौसम में दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए शुक्रवार को 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की घोषणा की। दिल्ली सरकार सख्ती से इसे लागू करेगी, ताकि ठंड के मौसम में दिल्लीवालों को प्रदूषण की समस्या से बचाया जा सके। सीएम ने कहा कि पिछले कुछ सालों में दिल्लीवासियों की मेहनत से प्रदूषण के स्तर में करीब 30 फीसद की कमी आई है। प्रदूषण के खिलाफ इस जंग में इस बार फिर से दिल्ली तैयार है और दिल्ली सरकार का विंटर एक्शन प्लान भी तैयार है। सीएम ने बताया कि विंटर एक्शन प्लान के तहत दिल्ली में चिंहित 13 हॉटस्पॉट के लिए अलग-अलग एक्शन प्लान बनाया गया है। इस बार दिल्ली के 5 हजार एकड़ से अधिक खेतों में बॉयो डी-कंपोजर का निःशुल्क छिड़काव किया जाएगा। निर्माण साइटों पर कड़ी नजर रहेगी, एंटी डस्ट मशीनों का इस्तेमाल करेंगे और वाहन प्रदूषण को कम करने के साथ-साथ खुले में कूड़ा जलाने पर रोक रहेगी। वहीं, प्रदूषण बढ़ने पर सख्ती से ग्रैप को लागू किया जाएगा और पडोसी राज्यों के साथ मिलकर काम करेंगे।

दूसरे राज्यों में विकास की गतिविधियां बढ़ने के साथ प्रदूषण भी बढ़ा है, लेकिन दिल्ली में कमी आई है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दिल्ली सचिवालय में प्रेस वार्ता कर दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की घोषणा की। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद दिल्ली के दो करोड़ लोगों, अलग-अलग सरकारी एजेंसी और केंद्र सरकार के साथ मिलकर बहुत सारे कदम उठाए गए हैं, जिसकी वजह से दिल्ली में पिछले 8 सालों में प्रदूषण में काफी कमी आई है। मैं ये नहीं कहूंगा कि आज की स्थिति आदर्श स्थिति है लेकिन यह ये दिखाता है कि हम जिस रास्ते पर चल रहे हैं, वो रास्ता सही है। 2014 के मुकाबले आज 2023 में प्रदूषण में 30 फीसद कमी आई है। अमूमन देखने में आया है कि अन्य राज्यों या शहरों में विकास की गतिविधियों के साथ प्रदूषण बढ़ा है। लेकिन दिल्ली में 30 फीसद प्रदूषण की कमी आई है।

2016 में अच्छी हवा 109 दिन थी, अब यह 163 दिन हो गई है और सीवियर पॉल्यूशन 26 दिन होते थे, जो घटकर 6 दिन रह गए हैं- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आंकड़ों के जरिए बताया कि 2014 में दिल्ली में पीएम-2.5 149 होता था, जबकि आज ये 103 है। इसी तरह 2014 में पीएम-10 324 होता था, आज ये 223 है। 2016 में प्रदूषण के हिसाब से 365 दिनों में 109 दिन अच्छी हवा होती थी, आज यह संख्या बढ़कर 163 हो गई है। अब साल में 136 दिन अच्छी हवा होती है। 2016 में सीवियर प्रदूषण के दिनों की संख्या 26 होते थे, अब ये घटकर केवल 6 दिन रह गए हैं। अब पूरे साल में केवल 6 दिन ही बहुत खराब होते हैं। इसी दिशा में हमने पिछले कई सालों से युद्ध प्रदूषण के विरुद्ध कैंपेन चलाया। सर्दियों में प्रदूषण को कम करने की दिशा में काम करने के लिए हमने 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान बनाया है।

15 साल तक बसों की खरीद न होने से लोग निजी वाहनों पर शिफ्ट होने लगे थे, हमने बड़े स्तर पर बसें खरीदी है- अरविंद केजरीवाल

इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने पिछले 8 सालों में दिल्ली सरकार द्वारा प्रदूषण को कम करने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी, जिनकी वजह से दिल्ली में 30 फीसद तक प्रदूषण को कम करने में मदद मिली। सीएम ने कहा कि दिल्ली में पिछले कई वर्षों से बसों की खरीद नहीं हुई थी। लगभग 15 साल तक दिल्ली में बसें नहीं खरीदी गई थी। इसकी वजह से दिल्ली में बसों की काफी कमी हो गई और पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम काफी खराब हो गया और लोग अपने निजी साधनों पर शिफ्ट करने लगे थे। पिछले दो-तीन सालों में हम लोगों ने बहुत बड़े स्तर पर बसें खरीदी हैं, जिसमें इलेक्ट्रिक बसें भी हैं। वर्तमान में दिल्ली में आजतक के इतिहास में सबसे ज्यादा 7135 बसें सड़कों पर हैं। पहले कभी भी दिल्ली में इतनी बसें नहीं थीं। इसमें से 800 इलेक्ट्रिक बसें हैं।

दिल्ली में 2013 में 20 फीसद हरित क्षेत्र था, जो अब बढ़कर 23 फीसद हो गया है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2020 में हमने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पॉलिसी लांच की थी। यह पॉलिसी सरकारी के साथ प्राइवेक्ट सेक्टर के लिए भी है। इस पॉलिसी की देश में ही नहीं, पूरी दुनिया में सराहना हो रही है। आज दिल्ली के अंदर बहुत बड़े स्तर पर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स खरीदे जा रहे हैं, जो शायद पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा है। वर्तमान में दिल्ली में जितने नए वाहन खरीदे जाते हैं, उसमें से 17 फीसद इलेक्ट्रिक वाहन खरीदे जाते हैं। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जैसे-जैसे विकास होता है, वैसे-वैसे पेड़ कटते हैं, सड़कें और बिल्डिंग बनती हैं। अलग-अलग शहरों में देखा गया है कि जैसे-जैसे विकास होता है, वहां हरित क्षेत्र में कमी आती है, लेकिन दिल्ली में उल्टा हो रहा है। दिल्ली में 2013 में 20 फीसद हरित क्षेत्र था, जो अब बढ़कर 23 फीसद हो गया हैं। हरित क्षेत्र कम होने की बजाय 3 फीसद तक बढ़ा है। देश के बड़े शहरों में आज सबसे ज्यादा ग्रीन कवर दिल्ली में हैं।

दिल्ली देश का अकेला शहर है, जहां कोयला आधारित कोई थर्मल पावर प्लांट नहीं है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने ट्री ट्रांसप्लांटेंशन पॉलिसी बनाई थी। कई बार हमें बड़े-बड़े प्रोजेक्ट्स के लिए पेड़ काटने की अनुमति देनी पड़ती है। कई पेड़ 100-200 साल पुराने होते हैं, ऐसे पेड़ों को अगर काट दिया जाए तो बहुत गलत है। हमने पॉलिसी के अंदर यह अनिवार्य कर दिया कि ऐसे पेड़ों को काटा नहीं जाएगा, बल्कि उन्हें जड़ों के साथ निकाल कर कहीं और ले जाकर लगा दिया जाएगा। इस पॉलिसी का भी बहुत अच्छा असर हुआ है। इसी तरह दिल्ली में स्थित दोनों थर्मल पावर प्लांट को बंद कर दिया गया। आज दिल्ली देश का अकेला शहर है, जहां पर कोयला आधारित कोई थर्मल पावर प्लांट नहीं है।

पहले दिल्ली में लंबे पावर कट लगते थे और लोगों को जेनरेटर चलाने पड़ते थे, अब 24 घंटे बिजली आती है- अरविंद केजरीवाल

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि धूल प्रदूषण करने वालों पर भारी जुर्माना लगाया जा रहा है और वेब पोर्टल के जरिए उनकी रियल टाइम मॉनिटरिंग की जा रही है। दिल्ली में 1727 पंजीकृत इंडस्ट्रीयल यूनिट्स हैं। पहले इन इंडस्ट्रीज में प्रदूषण पैदा करने वाले ईंधन का इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन अब इन इंडस्ट्रीज को पाइप नेचुरल गैस (पीएनजी) पर शिफ्ट कर दिया गया है। हमारी सरकार बनने से पहले दिल्ली में 7-8 घंटे के पावर कट लगा करते थे, लोगों को जेनरेटर चलाने पड़ते थे, जिससे धुंआ उठता था। आज दिल्ली में 24 घंटे बिजली आती है और अब जेनरेटर के इस्तेमाल की जरूरत नहीं पड़ती है। केंद्र सरकार ने दिल्ली के दोनों तरफ पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे बनाए हैं। पहले जो वाहन दिल्ली को पार करके यूपी जाया करते थे, अब ये वाहन पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे के जरिए दिल्ली के बाहर से ही चले जाते हैं। इससे भी दिल्ली में प्रदूषण में कमी आई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments