Friday, March 1, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeजनमंचप्रधानमंत्री के उपहारों की ई-नीलामी शुरू, नीलामी रखे गए हैं 912 उपहार

प्रधानमंत्री के उपहारों की ई-नीलामी शुरू, नीलामी रखे गए हैं 912 उपहार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपहारों की ई-नीलामी आज से शुरू हो गई है। इस ई-नीलामी में 100 रुपये से 64 लाख कीमत में खरीदने का मौका होगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले उपहार। यह उपहार बिक्री किए आज से उपलब्ध होंगे।यह जा जानकारी देते हुए संस्कृति मंत्री मीनाक्षी लेखी ने बताया कि प्रधानमंत्री को मिले उपहारों की ई नीलामी का पांचवां संस्करण है। इसमें कुल 912 उपहारों को रखा गया है, जो पीएम को देश विदेश में दौरों के दौरान मिले हैं। नीलामी से मिले धन का इस्तेमाल नमामि गंगे में होगा। उन्होंने कहा कि संस्कृति मंत्रालय को प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्राप्त उपहारों और स्मृति चिह्नों की शानदार श्रृंखला को प्रदर्शित करने वाले एक ई-नीलामी कार्यक्रम की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। इस ई-नीलामी में हमारी समृद्ध विरासत को प्रदर्शित करने वाली कलाकृतियों का एक असाधारण संग्रह है। ई-नीलामी 2 अक्टूबर से 31 अक्टूबर, 2023 तक https://pmmementos.gov.in/ पर लाइव रहेगी।

उन्होंने कहा कि ई-नीलामी के लिए उपलब्ध स्मृति चिन्हों का विविध संग्रह पारंपरिक कला रूपों की एक शानदार श्रृंखला को प्रदर्शित करता है, जिसमें पेंटिंग, जटिल मूर्तियां, स्वदेशी हस्तशिल्प और आकर्षक लोक और आदिवासी कलाकृतियां शामिल हैं। इन वस्तुओं में से, कुछ को पारंपरिक रूप से सम्मान और श्रद्धा के प्रतीक के रूप में प्रदान किया जाता है, जिनमें पारंपरिक अंगवस्त्रम, शॉल, टोपी और औपचारिक तलवारें शामिल हैं। इस ई-नीलामी की उत्कृष्ट कलाकृतियों में मोढेरा सूर्य मंदिर और चित्तौड़गढ़ के विजय स्तंभ जैसे वास्तुशिल्प चमत्कारों की प्रतिकृतियां शामिल हैं। चंबा रुमाल, पट्टचित्रा, ढोकरा कला, गोंड कला और मधुबनी कला जैसे उल्लेखनीय टुकड़े स्थायी और गहन सांस्कृतिक सार को प्रतिबिंबित करते हैं, जो विविध समुदायों के मूर्त और अमूर्त दोनों पहलुओं को समाहित करते हैं। मंत्री ने बताया कि अब तक चार संस्करणों में करीब सात हजार उपहार लोग खरीद चुके हैं। उन्होंने बताया कि 33 करोड़ रुपये अब तक ई नीलामी से आए हैं। यह पीएम की देश के अंदर की यात्राओं के दौरान उपहार में मिले हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments