Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeखास खबरराष्ट्रपिता महात्मा गांधीकीकालजयी शिक्षाएं हमें राह दिखाती हैं : पीएम मोदी

राष्ट्रपिता महात्मा गांधीकीकालजयी शिक्षाएं हमें राह दिखाती हैं : पीएम मोदी

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आज जयंती है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजघाट पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी है। इसके साथ ही, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिराल और दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने भी गांधी जी को उनकी जयंती पर याद किया। पीएम मोदी  ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर लिखा- गांधी जयंती के विशेष अवसर पर मैं महात्मा गांधी को नमन करता हूं। उनकी कालजयी शिक्षाएं हमारा पथ आलोकित करती रहती हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी का प्रभाव वैश्विक है, जो संपूर्ण मानव जाति को एकता और करुणा की भावना को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करता है। हम सदैव उनके सपनों को पूरा करने की दिशा में काम करते रहें। उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचार प्रत्येक युवा को उस परिवर्तन का वाहक बनने में सक्षम बनाएं, जिसका उन्होंने सपना देखा था, ताकि सर्वत्र एकता और सद्भाव को बढ़ावा मिले। पीएम मोदी ने एक्स पर जर्मनी की कैसमी के वीडियो को भी शेयर किया है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के विचार दुनिया भर के लोगों के साथ जुड़े हुए हैं। कैसमी  द्वारा गाया गया ‘वैष्णव जन तो’ का यह भावपूर्ण प्रस्तुतीकरण अवश्य सुनें, जिसका उल्लेख मैंने हाल ही में मन की बात  के दौरान किया था। इसे उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पेज पर शेयर किया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने राजघाट पहुंचकर गांधी जी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। इससे पहले, एक अक्टूबर की शाम को राष्ट्रपति ने लोगों से देश के कल्याण के लिए समर्पित होकर अपने विचारों, भाषण और कार्यों में गांधी जी के मूल्यों और शिक्षाओं का पालन करने की अपील की।

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने ‘एक्स’ पर कहा कि गांधी जयंती पर, जब हम राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं, तो आइए हम सत्य और अहिंसा के उनके सिद्धांतों को याद करें, जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम का मार्गदर्शन किया। आइए, हम भारत की सर्वाधित प्रगति के लिए आत्मनिर्भरता और सार्वभौमिक भाईचारे के उनके दृष्टिकोण को कायम रखने का संकल्प लें। महात्मा गांधी का जन्म दो अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर शहर में हुआ था। उनकी पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी था। उनके चार लड़के थे, जिनके नाम हरिलाल, रामदास, मणिलाल और देवदास गांधी है। गांधी जी की 30 जनवरी 1948 को दिल्ली के बिरला हाउस में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments