Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeहमारी दिल्लीदिनेश अरोड़ा के सरकारी गवाह बनने के बाद लगता है कि सीबीआई...

दिनेश अरोड़ा के सरकारी गवाह बनने के बाद लगता है कि सीबीआई को संजय सिंह के खिलाफ पुख्ता सबूत मिल गए हैं : सचदेवा

नई दिल्ली। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि जब भी सांसद संजय सिंह दिल्ली सरकार के शराब घोटाले पर बोलते थे तो चिंता और हताशा का जो संयोजन दिखाई देता था, वह हमेशा संकेत देता था कि संजय सिंह की इस घोटाले में गहरी भागीदारी है, लेकिन उन्होंने किसी भी संबंधित फाइल पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं, इसलिए वह इस मामले में पीड़ित कार्ड खेलने की कोशिश करते थे। संजय सिंह सी.बी.आई. द्वारा केस पंजीकरण के समय से ही इसमे सह अभियुक्त हैं। सचदेवा ने कहा कि शुरू से ही यह ज्ञात था कि संजय सिंह शराब घोटाले के सरगनाओं में से एक है, जिनका आरोपी दिनेश अरोड़ा के साथ करीबी संपर्क था और दिनेश अरोड़ा के सरकारी गवाह बनने के बाद ऐसा लगता है कि संजय सिंह के खिलाफ सीबीआई को पुख्ता सबूत मिल गए हैं। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष ने कहा है कि यह बात सार्वजनिक तौर पर सामने आई है कि संजय सिंह मनीष सिसौदिया के कार्यालय में शराब कारोबारियों, पब मालिकों और अन्य लोगों के साथ बैठक करते थे और दिनेश अरोड़ा के माध्यम से उनसे धन इकट्ठा करते थे। चूंकि दिनेश अरोड़ा अब सरकारी गवाह बन गए हैं, इसलिए संजय सिंह के लिए खेल खत्म होता दिख रहा है। सचदेवा ने कहा है कि दिनेश अरोड़ा और राघव मंगुटा के सरकारी गवाह बनने से दिल्ली के शराबकांड में दक्षिण भारतीय लाबी का गठजोड़ भी खुल जाएगा और कानून की डोर जल्द ही दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल तक भी पहुंचेगी। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है की इस सब में कांग्रेस एक जोकर की तरह दिखाई दे रही है क्योंकि उसके दिल्ली के नेता केजरीवाल पर शराब घोटाले का आरोप लगाते हैं और बड़े नेता केजरीवाल के भ्रष्टाचार की वकालत सड़क, कोर्ट एवं संसद मे करते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments